Section of Hindu Marriage Act Void Marriages
Section of Hindu Marriage Act Void Marriages

Void Marriages :

Any marriage solemnized after the commencement of this Act, shall be null and void and may , on a petition presented by either party thereto 2[against the other party], be so declared by a decree of nullity if it contravenes any one of the conditions specified in clause (i), (iv) and (v) of section 5.

Recommendation :

——————————–

2. Ins. by s. 5, ibid. (w.e.f. 27-5-1976).

===========

Section 11 of Hindu Marriage Act In Hindi

===========

शून्य विवाह – हिंदू विवाह अधिनियम 1955 की धारा 11

हिंदू विवाह अधिनियम 1955 की धारा 11 – शून्य विवाह :

इस अधिनियम के शुरू होने के बाद कोई भी शादी अशक्त और शून्य हो सकता है यदि यह खंड (i), (iv) और (v) की धारा 5 में निर्दिष्ट शर्तों में से किसी एक का भी उल्लंघन करता है तो और इसे डिक्री द्वारा घोषित किया जा सकता है |

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *